चाँद धरती से कितना दूर है || Chand Dharti se Kitna dur hai?

दुनिया में हर व्यक्ति की अपनी एक अनोखी इच्छा होती है। जैसे कि कोई दुनिया की सैर करना चाहता है। कोई बहुत बड़ा आदमी बनना चाहता है , तो बहुत से लड़कों का Dream यह भी होता है। कि वह चाँद पर जाएं।

आप सब में से बहुत से ऐसे हैं जो कभी ना कभी चाँद पर जाएंगे क्या आप जानते हैं कि चाँद धरती से कितना दूर है ( Chand Dharti se Kitna dur hai )तो आइए हम अपने इस लेख के माध्यम से आपको बताने की कोशिश करते हैं । कि चांद धरती से कितना दूर है और आपको चाँद के बारे में कुछ अनसुनी बातें बताएंगे तो पूरा पढ़िए इस लेख को और चांद के बारे में रहस्य जाने। 

Chand Dharti Se Kitna Dur Hai
Chand Dharti Se Kitna Dur Hai



Table of contents.

1- चाँद धरती से कितना दूर है?
2- चाँद का जन्म कब और कैसे हुआ?
3- चाँद का आकार 
4- चाँद का धरती का चक्कर लगाना ।
5- चाँद पर पहला कदम किस ने रखा
6- चाँद पर जाने वाला पहला भारतीय कौन है
7- चाँद का तापमान कितना?
8- चाँद का धरती पर होने वाला असर।
9- चाँद पर इंसान का वजन 
10- चाँद धरती से कितना दूर है और अन्य संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न।

चाँद धरती से कितना दूर है? ( Chand Dharti se Kitna dur hai )

जब कभी आप चाँद को देखते हैं। तो ऐसा लगता है, कि चाँद धरती के बहुत ही पास होगा, किंतु ऐसा नहीं होता है। क्या आप ने कभी सोचा है चाँद धरती से कितना दूर है। (Chand Dharti se Kitna dur hai )। चाँद धरती से बहुत दूर हैं। अंतरिक्ष वैगानिको एवं शोधकर्ता के अनुसार चाँद धारती से लगभग 3,84,403 किलोमीटर है। यानी कि 2,38, 857 मील  की दुरी पर स्थित है।  हालांकि ये दूरी एक दम सही नहीं है, परंतु वैज्ञानिकों के अनुसार लगभग में मापा गया है। और बात करें तो चाँद और पृथ्वी के बीच की दूरी सदैव समान नहीं रहती हैं।  यह बदलती रहती है क्योंकि चाँद पृथ्वी के चारों ओर घूमता है अर्थात चांद एक प्राकृतिक उपग्रह है जो मात्र पृथ्वी का उपग्रह और यह पृथ्वी के चारों ओर अपनी कक्षा में घूमता है।

चांद सौरमंडल में पांचवां सबसे बड़ा प्राकृतिक उपग्रह है। चाँद पृथ्वी का एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह और तो और आपको यह बता दे कि चाँद का वजन 81 अरब टन तक है। लेकिन इस बात का ध्यान दें कि चाँद और पृथ्वी के बीच का फासला एक समान नहीं रहता है। हम आपको यह बता चुके हैं। कि चाँद धरती का चक्कर लगाता है और यही कारण है कि पृथ्वी पर दिन और रात होता है। आपको यह बता दे कि चांद के पास खुद की रोशनी नहीं होती है, जो हमको रात को दिखाई देती है वह चांद की नहीं बल्कि सूर्य के प्रकाश से प्रकाशित होता है। और तो और आप लोगों के मन में यह सवाल उठ रहा होगा कि चांद का आकार कैसा होगा तो आपको बता दें कि चांद का आकार गोल है जो कि चांद धरती का एक Natural Satellite  कहा जाता है।

चाँद का जन्म कब और कैसे हुआ ?

वैज्ञानिकों के शोध के अनुसार हम आपको बता दें कि पृथ्वी के बनने के कुछ करोड़ साल बाद चाँद का जन्म के अस्तित्व का जन्म हुआ। वैज्ञानिकों के अनुसार आज से लगभग 4.5 अरब साल पहले चांद का अस्तित्व में आया था। जो कि पृथ्वी और रिया के बीच हुए टकराव के बाद बच्चे हुए अवशेषों के मलवे से बना था। ऐसा कहा जाता है कि चाँद के होने से पृथ्वी रुकी हुई है। इसी कारण से पृथ्वी पर सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण दोनों लगता है।

चाँद का आकार? 

चाँद का आकार क्रिकेट वालों की तरह खोल है। और यह स्वतः प्रकाशित नहीं होता है बल्कि सूर्य के प्रकाश से प्रकाशित होता है। चाँद का वह भाग जो सूर्य के सामने होता है वही भाग प्रकाशित होता हुआ दिखाई देता है और शेषनाग अंधेरा युक्त दिखाई देता है इसी वजह से आप देखते होंगे कि चाँद का आकार कभी घटता है तो कभी बढ़ता है।

परिधि 10921 km
तल का क्षेत्रफल 3793 km²
आयतन 21958 km³
द्रव्यमान 73477 kg

चाँद का धरती का चक्कर लगाना। 

अब तो आप जान ही गए होंगे कि चाँद पृथ्वी का चक्कर लगाता है। आपको यह भी बता दें कि चाँद को धरती का एक पूरा चक्कर लगाने में 27 दिन 7 घंटे 40 मिनट 11.5 सेकंड का समय लगता है।

आपको यह भी बता दें कि चाँद को अपनी अच्छी ध्रुवी पर पूरा एक चक्कर लगाने में 29 दिन 12 घंटे 44 मिनट 2.9 सेकंड का समय लगता है।

चाँद पर पहला कदम किसने रखा? 

बड़ी ही रोचक बात है। कि चाँद पर पहला कदम किसने रखा था। और कहां का था आपको इस लेख के माध्यम से सब कुछ बताने की कोशिश कर रहे हैं तो आपको बता दें कि चाँद पर पहला कदम नील आर्म स्ट्रांग ने 21 जुलाई 1969 में रखा था। आज चाँद पर जाने का मिशन apollo 11 अंतरिक्ष यान द्वारा किया गया था जो कि अमेरिका के निवासी थे Neel Angstrom। इसके अलावा कई लोग चांद पर जा चुके हैं।

चाँद पर जाने वाला पहला भारतीय कौन है?

चाँद पर जाने वाला पहला भारतीय राकेश शर्मा है। यह Neel Angstrom के बाद गए थे। 

चाँद पर जाने वाला पहला भारतीय कौन है?
चाँद पर जाने वाला पहला भारतीय कौन है?

चांद का तापमान 

अब आप लोगों के मन में यह सवाल उठ रहा होगा कि चाँद का तापमान कितना होगा। तो हम आपको यह बताना चाहते हैं कि जिस तरह से पृथ्वी का तापमान अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग होता है। ठीक उसी प्रकार चाँद का तापमान अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग होता है। आपको बता दें कि चाँद का ताप दिन व रात पर निर्भर करता है। चाँद पर दिन के समय का अधिक तापमान 127 डिग्री सेल्सियस तक होता है। और रात में 0-193 डिग्री सेल्सियस होता है। कुछ गहरी क्रिएटर्स में तो तापमान हमेशा -240 तक कम रहता है।

चाँद का धरती पर होने वाला असर

आपको यह बता दे कि चाँद की गुरुत्वाकर्षण शक्ति का पृथ्वी पर बहुत असर होता है। और पृथ्वी के गुरुत्व के कारण चाँद की कक्षा पर भी असर होता है। आपको यह बता दे कि चाँद के गुरुत्वाकर्षण कारण एक प्रक्रिया होती है।

Tidal fiction इसका सीधा असर ज्वार भाटा जैसी गतिविधियों में देखने को मिलता है इसका एक प्रभाव और देखने को मिलता है कि चाँद पृथ्वी से हर साल 1.5 इंच दूर जा रहा है।

चांद पर इंसान का वजन

बहुत से लोगों के मन में चल रहा होगा कि पृथ्वी की अपेक्षा चाँद पर मानव का वजन कितना होगा? हम आपको यह बता दे कि वैज्ञानिकों के अध्ययन से यह सिद्ध हुआ है। कि चंद्रमा के गुरुत्वाकर्षण शक्ति पृथ्वी से कम होती है। सामान्य तौर पर किसी व्यक्ति का वजन 16.5 फ़ीसदी कम होता है। अर्थात पृथ्वी का 1/6 वां भाग होता है।

चाँद व धरती से सम्बन्धित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न एवं जानकारियां।

1 . चांद आकार के हिसाब से सौर परिवार के उपग्रहों में किस नंबर पर आता है? 
Ans- यह सौर्य परिवार का पांचवां सबसे बड़ा प्राकृतिक उपग्रह है। यह पृथ्वी का एकमात्र अस्थाई प्राकृतिक उपग्रह है।

2. चाँद धरती से कितना दूर है? ( Chand Dharti se Kitna dur hai )
Ans- चांद धरती से 384403 किलोमीटर है।

3 . पृथ्वी के अक्ष पर चांद कितने समय में अपना एक चक्कर पूरा करता है?
Ans - चांद 27.3 दिनों में पृथ्वी का एक चक्कर पूरा करता है।

4 . बात की जाए तो अब तक चांद पर कितने लोग हैं?
Ans - अब तक चांद  पर सिर्फ 12 लोग ही गए हैं।

5 . चांद का पहला नक्शा किसने बनाया था? 
Ans - चांद का पहला नक्शा बनाने वाले पहले व्यक्ति का नाम "थॉमस  हैरियल" है। जो कि ब्रिटिश खगोल वैज्ञानिक थे।

6 . क्या चांद पर पानी है?
Ans- हां, चांद की सतह पर पानी उपलब्ध है। और पानी की खोज सर्वप्रथम भारत ने की थी। चांद की सतह पर है। जहां पर छाया है।

7 . चांद और सूर्य में आकार में कौन बड़ा है? 
Ans- सूर्य चांद से करीब 400 गुना बड़ा है। लेकिन पृथ्वी से दोनों का आकार लगभग समान है इसका कारण यह है कि सूर्य की तुलना में चांद पृथ्वी के ज्यादा करीब है।

8 . सूर्य ग्रहण कब लगता है? 
Ans-  जब सूर्य और पृथ्वी के बीच चंद्रमा आ जाता है। और पृथ्वी पर छाया डालता है तो इस अवस्था में वह सूर्य के प्रकाश को पूरी तरह या आंशिक रूप से ढक लेता है। परिणाम स्वरूप सूर्य ग्रहण लगता है।

9 . चंद्र ग्रहण कब लगता है? 
Ans - जब सूर्य और चंद्रमा के बीच पृथ्वी आ जाती है तो चंद्रमा पूरी तरह या आंशिक रूप से ढक जाती है परिणाम स्वरूप चंद्र ग्रहण लगता है।

10. चांद पर भारत कब पहुंचा? 
Ans - चांद पर भारत 3 अप्रैल 1984 ईस्वी में चांद पर पहला कदम रखा।

Conclusion.

आप जान ही गए होंगे कि चाँद धरती से कितना दूर है? Chand Dharti se Kitna dur hai मैंने बड़े ही आसान भाषा में आप को समझाने की कोशिश की है। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें। 

धन्यवाद 🙏🏻



एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने